Quote #

रखती है मायके का मान, ससुराल का सम्मान. पति के अरमान, बच्चों का ध्यान. रहती खुद से अनजान, ये है एक स्त्री की पहचान. स्त्री पुरुष के पीछे हो तो कमजोर नही सम्मान करती है स्त्री पुरुष के आगे हो तो अंहकारी नही ढाल बनती है स्त्री पुरुष के बराबर हो तो जिन्दगी बहार बन…

Quote#

गलती करना बुरा नही है गलती से सीख नही लेना बुरा है अभिमान तब आता है, जब हमें लगता है कि हमने कुछ किया है और सम्मान तब मिलता है जब दुनिया को लगता है कि आपने कुछ किया है आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

नर हो या नारी हो उतनी ही इज्जत दो जहाँ तक सही हो ज्यादा सम्मान की या नारीवादिता में दबोगे सामने वाला बैंड बजायेगा पहले खुद का आत्मसम्मान फिर सामने वाले का सम्मान आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote #

मान सम्मान की लड़ाई मे आत्मसम्मान बनाये रखना ,चाहे अकेले भी पड़ जाओ पर किसी के सामने स्वयं को कभी भी टूटने ना देना क्योकि खुद का सम्मान करोगे तभी दूसरो से मान पाओगे आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 397

जो बहन मायके मे भाई के साथ भाभी को भी इज्जत व स्नेह देती है , भाभी के संग सखी बनकर बतियाती है वहॉ उसका कई गुना प्यार तो बढ़ता ही है साथ मे उसके आने का सुनकर भाभी के चेहरे पर इंतजार के साथ मुस्कान के फूल भी खिलने लगते है आपकी आभारी विमला…

Quote # 396

श्रद्धा ज्ञान देती है ,नम्रता मान देती है और योग्यता स्थान देती है कितनी सच्चाई है यारों अगर तीनों मिल जाये तो व्यक्ति को हर जगह सम्मान देती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quotes #183,184,185,186,187,188,189,190,191,192

जो व्यस्त थे वो व्यस्त ही निकले वक्त पर फालतू लोग ही काम आये दुःख में स्वयं की एक अंगुली आंसू पोंछती है और सुख में दसो अंगुलियाँ ताली बजाती है जब स्वयं का शरीर ही ऐसा करता है तो दुनिया से क्या गिला-शिकवा करना खुद मे खुदा को देखना ध्यान है दूसरो मे खुदा…

Quotes # 168,169,170,171,172,173

अगर आप working woman नही है तो आप अपना परिचय house wife कहकर ना दे । क्योंकि आपकी शादी घर के साथ नही हुई है ।आप तो घर की रानी है इसलिये अपना परिचय house queen कहकर दे हमारे सम्मान मे कहे जाने वाले शब्द वो नही है जो हमारे सामने बोले जाते है बल्कि…

नारी तेरे बिना अधूरी कहानी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 394)

नारी तेरे बिना अधूरी कहानी …..हालाँकि आज मे स्रियो के अधिकारो को लेकर जागरूकता बढ़ रही है फिर भी अभी और सुधार लाने की जरूरत है । समाज की उन्नति के लिये नारी का सम्मान करना बहुत जरूरी है ,क्योंकि नारी पुरूष का आधा अंग कहलाती है । क्या यह संभव है कि किसी का…