Quote #

विचार उस बहते पानी की तरह है यदि इसमें गंदगी मिलाएंगे तो वो गंदा नाला बन जायेगा और सुगंध मिलाएंगे तो वह पवित्र जल बन जायेगा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

Quote #

कडवा सच अमीर के घर पर बैठा कौवा भी सबको कोयल लगता है गरीब का भूखा बच्चा भी सबको चोर लगता है कितना अजीब है यारों इंसान की अच्छाई पर सभी खामोशी ओढ़ लेते है चर्चा अगर निंदा पर हो तो गूँगे भी बोल पड़ते है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

कभी किसी के ज़ज्बातो का मजाक ना बनाना ना जाने कौन सा दर्द लेकर कोई जी रहा है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

ासाथ रह कर जो छल करें, उससे बड़ा कोई शत्रु नही हो सकता । जो हमारी बुराइयां मुँह पर बता दे ,उससे बड़ा कोई मित्र नही हो सकता । और साफ साफ बोलने वाला कड़वा जरुर होता है पर धोखेबाज़ नहीं हो सकता । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 395

परेशानी में कोई सलाह मांगे तो सलाह के साथ अपना साथ भी देना क्योंकि सलाह गलत हो सकती है पर साथ नहीं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 383

जीवन में तीन लोगों को कभी नहीं भूलना चाहियें 1 .मुसीबत में साथ देने वाले को 2. मुसीबत में साथ छोड़ने वाले को 3. मुसीबत में डालने वाले को आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

असली खूबसूरती # जिंदगी की किताब (पन्ना # 376)

असली खूबसूरती …. आरती ने अपने बेटे रौनक की सगाई बुझे मन से काजल के साथ तय कर दी । एक सप्ताह बाद सगाई की रस्म रखी गई जिसमे काफी रिश्तेदारों को बुलाया गया । होने वाली वधू काजल व रौनक ने एक साथ पार्टी हॉल मे प्रवेश किया । दोनो और के सारे रिश्तेदारों…

रिश्ते # जिंदगी की किताब (पन्ना # 375)

🌸रिश्ते टूटने का एक कारण दिखावा व competition भी है जिससे रिश्तो की स्वाभाविकता खत्म हो जाती है 🌸रिश्ते टूटने का सबसे बडा कारण आपसी अनबन, झूठा अहंकार है जिसकी क्रोधाग्नि मे आपसी रिश्ते भस्मीभूत हो जाते है 🌸रिश्तो से ज्यादा उम्मीदें व नासमझी व बातचीत बंद कर देने से दूरियाँ इतनी बढ़ जाती है…

Quote # 268

दोस्तो किसी को दुआ नही तो बददुआये भी मत देना क्योकि प्रकृति का नियम है कि जो हम देंगे वही लौटकर हमारे पास आने वाला है । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 237

क़ुदरत का नियम है कि किसी के द्वारा मिले मान पर उससे जितना राग होगा ,उतना ही उसके द्वारा मिले अपमान पर उससे द्वेष हो जायेगा इसीलिये … किसी के दिये गये मान के लड्डू को सोच समझकर खाना क्योकि यह खाने मे जितना मीठा लगेगा उतना ही उसके द्वारा दिया गया अपमान काघूँट कडवा…

आओ कुछ ऐसा करे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 367)

प्रेरक कथा आओ कुछ ऐसा करे …. रामू मिल का चौकीदार था ,उसकी ये खासियत थी कि वह मिल मे काम करने वाले हर व्यक्ति को कभी भी आते जाते समय good morning या good night या सलाम , नमस्ते जरूर करता ,चाहे वह आदमी कोई भी पद पर हो । उसका ऐसा heartily बोलना…