रिश्ते # जागृति # Quote

Rishto ko thand lagnay ka khatra ho toh garmahat ke liye kuch der khamoshi ki shawl odh lene mein koi harz nahi. आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

शादी का लड्डू खाया जाये ना खाया जाये # जिंदगी की किताब (पन्ना # 379)

शादी का लड्डू खाया जाये ना खाया जाये हमेशा कहा जाता है शादी का लड्डू खाये तो पछताये ना खाये तो पछताये पर शादी का लड्डू खाने के लिये नही बॉटने के लिये होता है पारिवारिक दूरियों को पाटने के लिये होता है । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

पश्चिमी पाश्चयता # जिंदगी की किताब (पन्ना # 363)

पाश्चात्य सभ्यता की कुछ बातों का भारतीय संस्कृति पर प्रभाव ….. पाश्चात्य संस्कृति से कुछ अच्छी बातें भी सीखने को मिलती है तो कुछ बातों का भारतीय संस्कृति पर दुष्प्रभाव भी पड़ता जा रहा है । पश्चिमी सभ्यता में पारिवारिक जीवन,हमारे संस्कार , खानपान , पहनावा ( महिलायें , लडकियॉ )आदि में हमारे देश मे…

मन – जिंदगी की किताब (पन्ना # 338 )

यह दुनिया मन से बड़ी लुटेरी ना तेरी है ना मेरी यह दुनिया मन से बड़ी लुटेरी ।। मुँह मे राम राम दिल मे हेरा फेरी है यह दु ng> मन से बड़ी लुटेरी मानव भी माछर से क्या कम माछर जब भी काटे तो घूँ घूँ करके करता पुकार लेकिन चुपचाप काटे दुनिया जब…

दहेज की दानवता # जिंदगी की किताब (पन्ना # 335)

लक्ष्मी पूजन करने वालों पहले साक्षात लक्ष्मी का आदर करो दहेज दानवता की जकड़ से उसे पूरी तरह से आज़ाद करो तुम लक्ष्मी लक्ष्मी कहने वाले जरा इस बात विचार करो तुम बेटी सबकी बेटी है द्वेष नही उसे प्यार करो तुम क्यों दहेज की दानवता का सरे आम जाल बिछाते हो अपनी ही बेटी…

मेरा अनुभव-विवाह योग्य लडकी होने पर # जिंदगी की किताब (पन्ना # 18)

विवाह योग्य लडकी होने पर …… हमारे कई रिश्तेदार,मित्रवर्ग तथा आस पड़ोस ,परिचित …आदि ऐसे कई परिवार है जहॉ शादी योग्य लडके या लड़कियों होती है ।जिनमें कई जनों की सही समय पर शादी हो जाती है तो कई जनों की उम्र तीस के आसपास होने पर भी शादी के आसार नही लगते । मै…

प्रणाम का महत्व # जिंदगी की किताब (पन्ना # 321)

प्रणाम करना या चरण स्पर्श करना एक परंपरा या बंधन नहीं है बल्कि इसके पीछे कई वैज्ञानिक तथ्य छिपे हुये है,जो कई तरह से हमारे शारीरिक, मानसिक और वैचारिक विकास मे सहायक होते है । चरण स्पर्श करने के तीन तरीके होते है पहला झुककर ,दूसरा घुटने के बल बैठकर तथा तीसरा साष्टांग प्रणाम करना…

विवाह करने का कारण -जिंदगी की किताब (पन्ना # 295)

आज विवाह के बारे मे कुछ कहना चाहूँगी ।  विवाह ऐसा बंधन है जिसे सभी खुशी से स्वीकारते है । विवाह के नाम से मन मे कुछ कुछ हलचल होने लगती है । यह अलग बात है कि शादी के बाद किसी को कितनी खुशी या दुख मिलता है ? इस लेख मे शादी के…

जिन्दगी की रेसिपी-जिंदगी की किताब (पन्ना # 277)

Good day to all divine souls … मीठी मुस्कान ,नमकीन ऑसू ,कड़वे घूँट  इन तीनों के स्वाद से मिलकर बनी है जिन्दगी की रेसिपी  कभी कभी गुस्सा आने पर ऑसूओ के साथ  उन सबके के लिये कड़वे घूँट पीना पड़ता है , जिन्हें हम खोना नही चाहते है  आपकी आभारी विमला मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏 

माहौल या वातावरण का प्रभाव …जिंदगी की किताब (पन्ना # 6)

माहौल या वातावरण का प्रभाव … आज के वेज्ञानिक युग में जिंदगी भागदौड़ वाली होती जा रही हैं ।किसी को भी दूसरे के लिये समय नही ।सभी एक ही भेड़ चाल से भागे जा रहे हैं । रिश्ते नातों मे तो ऐसा लगता है कि जब तक मेरा काम है तब तक तुझको सलाम हैं…

सहजता – जिंदगी की किताब (पन्ना # 272)

Good day to all divine souls … जब तक हो हमे सहज जीवन जीने की कोशिश करनी चाहिये ना कि कृत्रिम और आरोपित जीवन जीने की क्योकि कहा जाता है कि  जो कुछ भी सहजता से मिलता है वह दूध के समान श्रेष्ठ है ।  मॉगने से जो मिलता है वह पानी के समान है  और…

प्यार – जिंदगी की किताब (पन्ना # 266)

Good day to all divine souls … रिश्ता चाहे जो भी हो पर  हर संबंधों मे निस्वार्थता का प्यार जरूरी है । जो बिन बोले भावनाओं को समझे वह सच्चा प्यार है । जो भावनाओं को समझ कर भी नासमझे वह कच्चा प्यार है । जो भावनाओं को बिल्कुल भी ना समझे वो दिखावे का…