परिवार व रिश्ते # Quotes

किसीभीलड़कीकोवहचाहेविवाहितहोयाअविवाहितछेड़नापापहै …. आजकलआधुनिकजमानेमेबिंदीवसिंदूरलगानेकीपरंपरागुलहोतीजारहीहैजोविवाहितहोनेकोभीदर्शातीहै …..इसपोस्टकाआशयइसपरंपराकोजीवितरखनाहै आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 all picture taken from google Advertisements

प्रार्थनाये # सुविचार # Quotes

रात को सोते समय ये प्रार्थना ज़रूर करे हे भगवन जिन्दगी भर मैंने अपने लिये मॉगा है आज मै परमार्थ के लिये तुझसे मॉगता हूँ ,चाहे मेरी प्रार्थना तुझ तक पहुँचे या ना पहुँचे 1. बचपन मे किसी भी बच्चे की मॉ ना छिन जाये 2. युवा उम्र मे किसी भी स्री का अपने पति…

ईश्वर # प्रार्थना # Quote

किस्मत वाला हूँ प्रभु जो तेरे स्नेह मे पल रहा हूँ दामन मे खुशियॉ भरकर , फूलो सा खिल रहा हूँ क्या हुऑ अगर तुम्हारे दर पर ना आ सका पर मन की ऑंखो से दीदार तो कर सकता हूँ दामन ना छूटे कभी तेरा, ऐसी प्रार्थना के साथ वंदन करता हूँ । आपकी आभारी…

ईश्वर से याचना क्यों,क्या भरोसा नही ?# जिंदगी की किताब (पन्ना # 328)

ईश्वर से याचना क्यों , क्या भरोसा नही ? कहने को तो हम ईश्वर को याद करने के लिये मंदिर मे जाते है ,जप , तप , पूजा पाठ आदि क्रियाये करते है जो कही से गलत भी नही है लेकिन उस समय हमारा ध्यान रहता है कि हे प्रभु मुझे अच्छे अंकों से परीक्षा…

ईश्वर # प्रार्थना # Quote

hey iswar !! tum subah ki pehli aaradhana ho to raatri ki antim prathna ho jivan ka majbut tantra ho to jindgi ka beej mantra ho kya nahi ho ? bhakti,prem,sadhana sabhi kuch to ho tum . हे ईश्वर !! तुम सुबह की पहली आराधना हो तो रात्रि की अंतिम प्रार्थना हो ज़ीवन का मजबूत…

ईश्वर # प्रार्थना # Quote

Hey parmatma anadikal se humne sampatiwan, shaktiman, kirtiman, dhawan banney ki prarthna ki hai, parantu gungaan, sheelwan, dayawan, shamawan, bhaktiman, banney ki prarthna nahi ki, hey prabhu! Aap humari is parampara ko badal dene ki samarthaya dena. हे परमात्मा अनादिकाल से हमने संपतिवान , शक्तिमान, कीर्तिमान , धनवान , बनने की प्रार्थना की परंतु गुणगान…

प्रार्थना का महत्व # जिंदगी की किताब (पन्ना # 402)

प्रार्थना का महत्व …… ईश्वर की प्रार्थना मे अपूर्व शक्ति है यदि इस पर विश्वास व श्रद्धा रखी जाये तो अपूर्व वस्तु की प्राप्ति होती है ।जैसे कि कल्पवृक्ष मे कोई वस्तु नज़र नही आती लेकिन उसके नीचे बैठकर जिस वस्तु की कल्पना की जाती है वह मिल जाती है ।ठीक उसी प्रकार परमात्मा की…