जाग्रति # रिश्ते # Quote

जन्म के रिश्ते ईश्वर का प्रसाद जैसे हैं लेकिन खुद के बनाये रिश्ते आपकी पूँजी हैं सहेज कर रखिये परोपकार का काम करो ,ईश्वर की सच्ची भक्ति हो जायेगी व साथ मे अच्छी शक्ति मिल जाएगी संबंध कभी भी मीठी बोली या सुन्दर चेहरे से नहीं टिकते वो टिकते हैं निर्मल ह्रदय और कभी ना…