हर गृहिणी की हक़ीक़त # जिंदगी की किताब (पन्ना # 354)

रात को सोने से पहले रसोई को देखना है , सब कुछ ठीक से तो रखा है फ्रिज मे सामान तो रख दिया है ,कही बाहर गर्मी मे खराब ना हो जाये दही ज़माना या सुबह के लिये चना राजमा छोले भिगौने है सुबह अलार्म बजते ही सबसे पहले रसोंई का दरवाज़ा दिखता है ।…

गृहिणी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 327)

क्या हुआ गृहिणी अगर शिक्षक नही, पर घर की हर समस्याओ का समाधान कर जाती है । क्या हुआ गृहिणी अगर डॉक्टर नही , पर घर मे छोटे मोटे मर्ज की दवा तो कर जाती है । क्या हुआ गृहिणी अगर एम.बी.ए. नही , पर कुशलता से घर और बाहर का मैनेजमेंट संभाल जाती है…