छोटे खर्च मे बडी खुशी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 373)

छुट्टी के दिन मै बच्चो के साथ beach पर गई । बच्चे खेलने लगे । थोडी देर से मैने देखा कि एक बेलून वाला बहुत ही फटेहाल हालत मे मुरझाया चेहरा लिये बेलून बेचने के लिये ग्राहक के पास इधर से उधर दौड़ लगा रहा था पर कोई उसे आगे चल कहकर भगा देता तो…