Quote # 248

देखा नही है जिसने आंसुओं की बरसात का मौसम वो क्या जाने दिल का दर्द आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote#247

बेटियों को बोझ समझने की फ़ितरत बदल डालो हकीकत मे बेटियॉ अपना नसीब लेकर पैदा होती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 246

फिजा में महक बिखरने दो मासूम बचपन को खिलखिलाने दो धूप मे पांव जलाने से पहले इन नन्हे कदमों को छलांगें लगाने दो आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote# 245

ज़िंदगी मे वो दोस्त बहुत मायने रखते हैं जो वक़्त आने पर हमारे सामने आईना रखते हैं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 244

सबसे खूबसूरत लम्हा जब आपका परिवार आपको दोस्त समझने लगे और आपका दोस्त आपको अपना परिवार आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

नारी हूँ व अपने अंदाज से सजना संवरना है मुझे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 372)

नारी हूँ व अपने अंदाज से सजना संवरना है मुझे हर नारी खूबसूरत दिखने के लिये सजना संवरना चाहती है । मै भी नारी हूँ व खूबसूरत दिखना चाहती है पर अपने अंदाज व अपनी शर्तो पर,अपनी संतुष्टि के लिए । मै खूबसूरत लगना चाहती हूँ पर दूसरों की अपेक्षाओं पर बने रहने के लिए,…

Quote # 243

जरूरी नहीं कि हर समय जुबान पर ईश्वर का नाम आए वो लम्हा भी भक्ति का होता हैं , जब इंसान इंसान के काम आए आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote#242

वक्त की नजाकत है एक ही डाल के फूल कहते है हम संग है लेकिन डाल से टूटने के बाद, किसी की किस्मत मे प्रभु का संग है, और किसी की किस्मत में मुर्दे का अंग है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote# 241

ख़ुशनसीब है वो लोग जिनके दर्द मे उनके हमदर्द साथ होते है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद

Quote# 240

सच्चे दोस्त हमे कभी गिरने नहीं देते, ना किसी की नजरो में और ना किसी के कदमो में आपकी आभारी विमला विल्सनजय सच्चिदानंद 🙏🙏

तजुर्बा # जिंदगी की किताब (पन्ना # 371)

उच्चतम् न्यायालय के न्यायाधीश, जो परिवारिक झगडे़ सुलझाने वाले न्यायालय से सम्बंधित थे, उन की 10 सलाहें। 1. अपने बेटे और पुत्र वधु को विवाह उपरांत अपने साथ रहने के लिए उत्साहित न करें, उत्तम है उन्हें अलग, यहां तक कि किराये के मकान में भी रहने को कहें, अलग घर ढूँढना उनकी परेशानी है। आप और बच्चों के…

Quotes # 238,239

स्कूल जाते समय सबसे ज्यादा रोना तब आता था जब रात भर तेज बारिश होती और school के समय बंद हो जाती थी जिन्दगी की आधी शिकायतें ऐसे ही ठीक हो जाये अगर लोग एक दूसरे के बारे मे बोलने की जगह एक दूसरे से बोलना सीख जाये आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏