Quote #

इंसान की सोच व नसीहत समय व हालात पर बदलती रहती है चाय मे मक्खी गिर जाये तो चाय फैंक देते है अगर घी मे मक्खी गिर जाये तो मक्खी फैंक देते है हम फ़ोन उठाते वक्त इंग्लिश मे hello बोलते है , अगर इसे बदलना चाहे तो कौन सा शब्द होगा जो हम सभी…

Quote #

जवाब तो हर बात का दिया जा सकता है लेकिन जो रिश्ते की अहमियत नही समझ पाये वो शब्दो को क्या समझेंगे आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

विचार उस बहते पानी की तरह है यदि इसमें गंदगी मिलाएंगे तो वो गंदा नाला बन जायेगा और सुगंध मिलाएंगे तो वह पवित्र जल बन जायेगा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 397

जो बहन मायके मे भाई के साथ भाभी को भी इज्जत व स्नेह देती है , भाभी के संग सखी बनकर बतियाती है वहॉ उसका कई गुना प्यार तो बढ़ता ही है साथ मे उसके आने का सुनकर भाभी के चेहरे पर इंतजार के साथ मुस्कान के फूल भी खिलने लगते है आपकी आभारी विमला…

Quote # 395

परेशानी में कोई सलाह मांगे तो सलाह के साथ अपना साथ भी देना क्योंकि सलाह गलत हो सकती है पर साथ नहीं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 392

श्तो को बेहतर व मधुर बनाने के लिये बहुत जरूरी है कि घर परिवार की बात घर मे ही सीमित रखे ना कि जगत ढिंढोरा पीटे वरना रिश्तो मे कडुवाहट तो आयेगी ही ,जग हँसाई और होगी आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 260

उम्र तो बस मॉ की कोख मे बढ़ती है बाक़ी पूरी जिन्दगी मे तो उम्र घटती है संसार की सबसे बडी कारूण्यता मॉ के बिना संतान , संतान के बिना मॉ आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote# 258

आंसू जता देते है दर्द कैसा है बेरूखी बता देती है हमदर्द कैसा है घमण्ड बता देता है कितना पैसा है संस्कार बता देते है परिवार कैसा है बोली बता देती है इंसान कैसा है बहस बता देती है ज्ञान कैसा है नजरें बता देती है सूरत कैसी है स्पर्श बता देता है नीयत कैसी…

Quote # 256

चार प्रकार के आंसू बड़े दुर्लभ है पाप करने के बाद निकलने वाले वेदना के आँसू दुख से आहत होकर निकलने वाले संवेदना के आँसू अपने प्रिय से बिछड़ने के बाद निकलने वाले विरह के आँसू प्रभु भक्ति मे निकलने वाले प्रेम के आँसू आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 248

देखा नही है जिसने आंसुओं की बरसात का मौसम वो क्या जाने दिल का दर्द आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote#247

बेटियों को बोझ समझने की फ़ितरत बदल डालो हकीकत मे बेटियॉ अपना नसीब लेकर पैदा होती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

नारी हूँ व अपने अंदाज से सजना संवरना है मुझे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 372)

नारी हूँ व अपने अंदाज से सजना संवरना है मुझे हर नारी खूबसूरत दिखने के लिये सजना संवरना चाहती है । मै भी नारी हूँ व खूबसूरत दिखना चाहती है पर अपने अंदाज व अपनी शर्तो पर,अपनी संतुष्टि के लिए । मै खूबसूरत लगना चाहती हूँ पर दूसरों की अपेक्षाओं पर बने रहने के लिए,…