Quote #

कभी भी अपने आप को बूढ़ा , अपाहिज,मुर्दा दिल मत बनने दो हमेशा ऊर्जावान रहो जिन्दगी ज़िन्दादिली का नाम है हमेशा आगे बढ़ने मे विश्वास करे व साथ मे जीत पर भरोसा कमज़ोर होती जिन्दगी के कमजोर होते जज्बे व जज़्बात को बदलना होगा व उसमे दम ख़म भरना होगा नारी रोती है तब तक…

Quote #

बडी बडी बाते करने वाले बातों मे ही रह जाते है वही हल्के से मुस्कुराने वाले भी बहुत कुछ कह जाते है आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

सम्बन्ध और जल एक समान होते है जो बिना रंगरूप के होते हुये भी जीवन के अस्तित्व के लिए सबसे महत्वपूर्ण होते है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद

Quote #

नाराज न होना कभी यह सोचकर कि काम मेरा और नाम किसी का हो रहा है घी और बाती सदियों से जलते चले आ रहे है और लोग कहते है कि दिया जल रहा है। आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote #

सच बोलिए ,सच बोलने से आज भले ही खतरा हो, पर सत्य एक दिन आपके सम्मान और विश्वास को पहले से सौ गुना अधिक मजबूती से लौटा लाएगा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

भाग्य और झूठ से जितनी उम्मीद रखेंगे उतनी ही ज्यादा निराशा मिलेगी व कर्म और सच पर जितना जोर देंगे उतना ही उम्मीद से ज्यादा मिलेगा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

दिल में ज्योति जगाये रखना सुंदर सपने सजाए रखना आस के दीप जलाए रखना चाहे धर्म ,कर्म मे हो अंतर सदा मेल मिलाप बनाए रखना बड़ी शिद्दत से संजोए हैं तिनके अपना घरौंदा बसाए रखना आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

लोभ # जिंदगी की किताब (पन्ना # 384)

🌸भूमिका के हिसाब से लोभ लालच सब मे होता है फर्क इतना है कि किसी मे ज्यादा होता है तो किसी मे कम होता है 🌸लेकिन लोभ करने का आधार सही होना चाहिये ।यदि कोई इंसान धन ,पैसे , गोरख धंधे की चाह मे लोभ करता है तो वह अशान्ति देता व इसके लिये पाप…

Quote # 392

श्तो को बेहतर व मधुर बनाने के लिये बहुत जरूरी है कि घर परिवार की बात घर मे ही सीमित रखे ना कि जगत ढिंढोरा पीटे वरना रिश्तो मे कडुवाहट तो आयेगी ही ,जग हँसाई और होगी आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 274

ना रूपया लगता है ना पैसा लगता है स्माइल दीजिये , बडा अच्छा लगता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 272

मेरी भावना …. अहंकार का भाव न रक्खूँ ,नही किसी पर क्रोध करूँ देख दूसरो की बढ़ती को , कभी न ईर्ष्या भाव धरूँ रहे भावना ऐसी मेरी , सरल सत्य व्यवहार करूँ बने जहॉ तक इस जीवन मे,औरों का उपकार करूँ आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #263

बहुत अच्छा करने पर भी यदि अपयश मिलता है तो दुखी या नर्वस ना हो । आपकी अच्छाई का परिणाम भविष्य मे कभी ना कभी जरूर मिलेगा यकीन मानिये ! पूर्व जन्म के यश नाम कर्म के हिसाब से इस जन्म मे यश या अपयश मिलता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture…