Quote #

कभी भी भूलकर किसी रिश्ते का मजाक ना उड़ाये, जिसे उड़ाने मे तो क्षणभर लगता है पर बनाने मे सारी उम्र लग जाती है आपका जीवन सुंदर , प्रसन्नतापूर्वक ,भाग्यशाली ,तनावरहित , मंगलमय हो रिश्तो को शब्दो का मोहताज ना बनाइये अगर अपना कोई ख़ामोश है तो खुद ही आवाज लगाइये कैसे खिलेंगे रिश्तो के…

Quote #

अपने अंदर ख़ुशी ढूँढना आसान नहीं पर सच्चाई इस बात मे भी है कि इसे और कही ढूँढना भी तो संभव नहीं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

बँटवारे की कहानी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 387)

बँटवारे की कहानी …. श्री शर्मा के संयुक्त परिवार की तारीफ मोहल्ले भर मे की जाती थी । चार बेटों का भरापूरा परिवार था । सभी आपस मे प्रेम से रहते थे । एकाएक शर्माजी की असामयिक मृत्यु से पूरा परिवार हिल गया । धीरे धीरे समय का कुचक्र ऐसा चला कि भाइयों की आपस…

Quote # 403

जिस घर मे बडे नरम छोटे नरम उस घर मे है शुभ कर्म जिस घर मे बडे नरम छोटे गरम उस घर मे है बेशर्म जिस घर मे बडे गरम छोटे नरम उस घर मे है शर्म जिस घर मे बडे गरम छोटे गरम उस घर मे फूटे कर्म आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद…

Quote # 392

श्तो को बेहतर व मधुर बनाने के लिये बहुत जरूरी है कि घर परिवार की बात घर मे ही सीमित रखे ना कि जगत ढिंढोरा पीटे वरना रिश्तो मे कडुवाहट तो आयेगी ही ,जग हँसाई और होगी आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

परंपराये # जिंदगी की किताब (पन्ना # 377)

परम्परायें …. एक अंधे दम्पत्ति थे ,जो मिलकर सब कार्य आसानी से कर लेते थे । लेकिन सबसे बडी परेशानी तब होती थी ,जब अंधी पत्नी खाना बनाती और कुत्ता आकर रोटी खा जाता । इस वजह से रोटियां या तो कम पड़ जाती या खाने को नही मिलती । तब अंधे पति को एक…

Quote # 377

बहुत खुशनसीब है वो पत्नी जिसका पति उसके सपने को साकार करने मे प्रोत्साहित करने के साथ उसकी मदद भी करता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 268

दोस्तो किसी को दुआ नही तो बददुआये भी मत देना क्योकि प्रकृति का नियम है कि जो हम देंगे वही लौटकर हमारे पास आने वाला है । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

पूत के पाव पालने मे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 375)

प्रेरक प्रसंग …… कहते है ना पूत के पाव पालने मे नजर आते है । ऐसा ही एक प्रसंग है ….. एक व्यक्ति के तीन बच्चे जो अलग अलग प्रवृति के थे ,उनके भविष्य को लेकर वह काफी चिंतित था । उसे समझ नही आ रहा था कि उन्हें किस दिशा मे बढ़ने के लिये…

Quote # 250

बेटी मेरा अभिमान है ,बहू मेरा बहुमान है बेटी रौनक व अंश है ,बहू इज़्ज़त और कुल वंश है बेटी ऑंखो का तारा है ,बहू का मुख है चॉद मेरा बेटी मेरा सौभाग्य है ,बहू अहोभाग्य है बेटी घर की रानी है ,बहू के सर लक्ष्मी ताज है एक आज है ,एक कल है मेरा…

तजुर्बा # जिंदगी की किताब (पन्ना # 371)

उच्चतम् न्यायालय के न्यायाधीश, जो परिवारिक झगडे़ सुलझाने वाले न्यायालय से सम्बंधित थे, उन की 10 सलाहें। 1. अपने बेटे और पुत्र वधु को विवाह उपरांत अपने साथ रहने के लिए उत्साहित न करें, उत्तम है उन्हें अलग, यहां तक कि किराये के मकान में भी रहने को कहें, अलग घर ढूँढना उनकी परेशानी है। आप और बच्चों के…

दर्द का अहसास # जिंदगी की किताब (पन्ना # 366)

दर्द का अहसास….. आज गुड़िया शादी के बाद पहली बार ससुराल से मायके मे कुछ दिनों के लिये आ रही थी ,पूरे घर मे चहल पहल थी ।इकलौता भाई बाहर से उसकी मनपसंद की वस्तुये ला रहा था ,तो भाभी उसके पसंद की खाने की चीज़ें बना रही थी । ट्रेन आने के समय से…