जिन्दगी क्या है # जिंदगी की किताब (पन्ना # 394)

जिंदगी क्या है ? कवियत्री मुक्ता सिंह जी की कविता दिल को छू गई । उन्होने बहुत ही खूबसूरती से कुछ पंक्तियाँ मे जिंदगी क्या है , बख़ूबी दर्शाया है ….. कभी-कभी मन में उठता है ये सवाल, जिंदगी क्या है ? क्या ये ईश्वर का दिया अनमोल तोहफा है, या है उलझनों से भरा…

Quote #

कभी निराश ना हो जीवन मे , कभी ना दुख मे घबराना एक यही साधन है सुख का , अपना कर्तव्य किये जाना आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

एक तमाचा दहेज लोभियो को # जिंदगी की किताब (पन्ना # 387)

एक तमाचा दहेज लोभियो को …. बहू घर के काम निपटाने के बाद मे मेरे सिर व पैरों पर मालिश कर दिया करो । मॉजी मुझसे इतना सब नहीं हो पायेगा,सारा दिन काम करते करते बहुत थक जाती हूँ । शर्म नहीं आती तुम्हें इस तरह का जवाब देते हुये । क्या यही संस्कार दिये…

Quote #

अपने अंदर ख़ुशी ढूँढना आसान नहीं पर सच्चाई इस बात मे भी है कि इसे और कही ढूँढना भी तो संभव नहीं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

अनुमान गलत हो सकता हे पर अनुभव नही क्योंकि अनुमान हमारे मन की कल्पना है और अनुभव हमारे जीवन का तुर्जबा है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

भाग्य और झूठ से जितनी उम्मीद रखेंगे उतनी ही ज्यादा निराशा मिलेगी व कर्म और सच पर जितना जोर देंगे उतना ही उम्मीद से ज्यादा मिलेगा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

बँटवारे की कहानी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 387)

बँटवारे की कहानी …. श्री शर्मा के संयुक्त परिवार की तारीफ मोहल्ले भर मे की जाती थी । चार बेटों का भरापूरा परिवार था । सभी आपस मे प्रेम से रहते थे । एकाएक शर्माजी की असामयिक मृत्यु से पूरा परिवार हिल गया । धीरे धीरे समय का कुचक्र ऐसा चला कि भाइयों की आपस…

Quote #

वक़्त तो रेत है ,फिसलता ही जायेगा जीवन एक कारवां है ,चलता चला जायेगा जिदंगी बेहतर तब होती है. ,जब आप खुश होते है लेकिन बेहतरीन’ तब होती है ,जब आपकी वजह से लोग खुश होते है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote #

कभी किसी के ज़ज्बातो का मजाक ना बनाना ना जाने कौन सा दर्द लेकर कोई जी रहा है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 399

सॉझ सूरज को ढलना सिखाती है शमा परवाने को जलना सिखाती है ठोकर खाने पर दर्द होता जरूर पर वही इंसान को चलना सिखाती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

रिश्ते # जिंदगी की किताब (पन्ना # 382)

रिश्तो मे सिक्के का एक पहलू ऐसा भी ….. सौम्या की शादी के कुछ साल पहले उसकी मॉ की मृत्यु किसी लंबी बीमारी से हो गई थी । मायके मे बापू व भाई भाभी की छोटी सी दुनिया थी ।उसके घर की अच्छी reputation होने की वजह से उसकी शादी अच्छे खाते पीते घर के…

Quote # 392

श्तो को बेहतर व मधुर बनाने के लिये बहुत जरूरी है कि घर परिवार की बात घर मे ही सीमित रखे ना कि जगत ढिंढोरा पीटे वरना रिश्तो मे कडुवाहट तो आयेगी ही ,जग हँसाई और होगी आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏