Quote #

मान सम्मान की लड़ाई मे आत्मसम्मान बनाये रखना ,चाहे अकेले भी पड़ जाओ पर किसी के सामने स्वयं को कभी भी टूटने ना देना क्योकि खुद का सम्मान करोगे तभी दूसरो से मान पाओगे आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

Quote #

जिंदगी में कई ऐसे हालात आते हैं, जब एक सच्चे दोस्त की जरूरत महसूस होती है, जो आपके दुख को धैर्य से सुन सके, बिना आलोचना किए आपको सांत्वना दे सके, समझा सके, बिना झिझके जरूरी सवाल उठा सके। यदि ऐसा है तो आप खुशनसीब है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 398

विश्वास , वक्त और इज्जत ऐसे परिंदे है जो एक बार उड़ जाये तो वापस नही आते । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 397

जो बहन मायके मे भाई के साथ भाभी को भी इज्जत व स्नेह देती है , भाभी के संग सखी बनकर बतियाती है वहॉ उसका कई गुना प्यार तो बढ़ता ही है साथ मे उसके आने का सुनकर भाभी के चेहरे पर इंतजार के साथ मुस्कान के फूल भी खिलने लगते है आपकी आभारी विमला…

Quote # 396

श्रद्धा ज्ञान देती है ,नम्रता मान देती है और योग्यता स्थान देती है कितनी सच्चाई है यारों अगर तीनों मिल जाये तो व्यक्ति को हर जगह सम्मान देती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 395

परेशानी में कोई सलाह मांगे तो सलाह के साथ अपना साथ भी देना क्योंकि सलाह गलत हो सकती है पर साथ नहीं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

जिंदगी की किताब (पन्ना # 383)

जन्माष्टमी का पर्व आया, तन मन को महकाया !! एक वर्ष से आये हो तुम ,हर्षोल्लास को लाये हो !! हर्ष , खुशी है सबके मन मे ,आओ पधारो मेरे मन मन्दिर !! खुशी से पर्व मनाते हुये , करे कन्हैया के गुणों का बखान अपनाये उनके गुणों की खान , हो जाये इस भवसागर…

Quote # 393

जीवन में आगे बढ़ने के लिये कभी कभी बहरा भी बनना पड़ता है क्योंकि मनोबल गिराने वालो की कोई कमी नही होती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 392

श्तो को बेहतर व मधुर बनाने के लिये बहुत जरूरी है कि घर परिवार की बात घर मे ही सीमित रखे ना कि जगत ढिंढोरा पीटे वरना रिश्तो मे कडुवाहट तो आयेगी ही ,जग हँसाई और होगी आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 390

अधिकतर सास बहू के वैचारिक संतुलन नही बन पाने के कारण ही घर टूटा करते है यदि घर मे दोनो संतुलित तरीके से रह ले तो घर अपने आप स्वर्ग बन जायेगा लड़के लड़की की कुंडली क्या मिलाना , मिलाना है तो सास बहू की मिलाओ क्योकि दोनो की पटरी ठीक बैठ गई तो सारे…

Quote # 388

शब्द भी एक तरह का भोजन है किस समय कौनसा शब्द परोसना है वो आ जाये तो उससे बढ़िया कोई रसोइयाँ नही शब्द का भी अपना एक स्वाद है, बोलने से पहले स्वयं चख लीजिये अगर खुद को अच्छा लगे तो दूसरो को दीजिये आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 387

जरुरत से ज्यादा मिले उसको कहते है नसीब सब कुछ होने पर भी जो रोता है उसको कहते है बदनसीब और जो थोडा कम पाकर भी हमेशा खुश रहे ,उसको कहते है खुशनसीब आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏