लफ्ज # (61,62,63)

1. आसान नही है ,इंसान के घर जन्म पाना ! उससे भी कठिन है ,इंसान कहलाना ! 2. नीच से नीच इंसान भी उठ सकता है , उठाने वाला चाहिये ! दुनिया झुक सकती है , झुकाने वाला चाहिये ! 3. वही इंसान है जो इंसान के लिये मरे ! वही पशु वृत्ति है जो…

लफ्ज # 58,59 60

1. मन्दिर मस्जिद तीर्थ जाये या गुरूद्वारा चर्च पत्थर से करता प्यार मगर इंसान रहा ठुकराय !! 2. तीर्थ मंदिर ,ग्रंथों मे ढूँढे पत्थर पर शीश झुकाय ख़ुद मे खुदा बसा पहचान न ख़ुद को पाय !! 3. कोटि धर्म व तीर्थ करो चाहे कर लो जतन हजार आत्म स्वरूप जाने बिना, सब धर्म कर्म…

लफ्ज # 55,56,57

1. जिन्दगी कभी सुहानी बन जाती है , कभी दर्दानी बन जाती है , कभी रूहानी बन जाती है , अंत मे कहानी बन जाती है ! 2. जिन्दगी प्यार का गीत है , उसे हर दिल को गाना पड़ेगा , जिन्दगी गम का सागर भी है ,उसे हँस कर पार भी करना पड़ेगा !…

लफ्ज # 52,53,54

1. महत्व इस बात का नही है कि हम क्या है ,बल्कि इस बात का है कि हम क्या हो सकते है ।स्वयं को चमकते हीरे की तरह बनाइये जो मिट्टी मे गिरकर भी अपनी कीमत कम ना होने देता है 2. क्या हुऑ ,अगर हमें गुलाब का संग नही मिल पा रहा है ।…

लफ्ज # 49,50,51

1. खुशियों के लिए क्यों करे किसी का इंतज़ार, हम ही तो हो अपने जीवन के कलाकार । 2. ख़ुशियाँ मिले ना जंगल में, ना मिलें शहर ,गॉव ,हाट बाजार मे अपने भीतर ढूंढ लो मिल जायेगी दिल की छॉव मे । 3. ना खुशी खरीद पाता हूँ ना गम बेच पाता हूँ, फिर भी…

लफ्ज # 46 ,47,48 # खुशियॉ

1. जेब में ख़ुशियों के लम्हे लेकर क्यूँ घूमते हो जनाब ! बाँट दो ना इन्हें ,ना गिरने का डर ,ना चोरी का डर ।Jeb mein khushiyon ke lamhein lekar kue ghumtein ho janaab, Baat do na inhein , na girne ka dar na chori ka dar. 2. ढूँढोगे तो जिन्दगी मे गम की वजह…

लफ्ज # (43,44,55)

1. सिसक सिसक कर रो उठा , जब सारा घर परिवार जिस दिन उठवाई गई , ऑगन मे दीवार Sisak sisak kar roo utha , jab sara ghar pariwar Jis din uthawi gayi, aangan mein diwar 2. दूसरे के घर देर तक , बनो नही मेहमान मिलता है सम्मान के बदले ,फिर अपमान Dusray ke…

लफ्ज # 40,41,42

1.भगवान को खोजने वाले को भगवान दर्शन नहीं देते परंतु भगवान में खो जाने वाले को भगवान दर्शन जरूर देते हैं । 2. व्यापार मे धर्म करो धर्म मे व्यापार नही । 3. धर्म करने के लिये शहर, गॉव या जंगल ,कही पर भी जाने की जरूरत नही है क्योकि वस्तुत: धर्म न गॉव मे…

लफ्ज # (38,39 )

1. सहारा देने वाले बहुत मिलेंगे पर प्यार के साथ कोई नही मिलेगा, जो भी मिला है उसकी कद्र कर लो खोने के बाद वो फिर कभी दुबारा नही मिलेगा 2. गीता , क़ुरान दोनो मे प्यार मोहब्बत से जीना लिखा हुआ है तो फिर बात बात पर ” हिंदू और मुस्लिम मे झगड़ा कैसा…

लफ्ज # (35,36,37)

1.जिंदगी मे हमेशा सारथी बनने की कोशिश करना,  स्वार्थी बनने की नहीं । Jindgi mein humesha sarthi bananein ki koshish karna , Swarthi bananein ki nahi 2.नफरत यदि जिन्दगी को खूबसूरत बनाये तो बेशक  उसे जिन्दगी भर दिल से लगाये रखना  Nafrat yadi jindgi ko khubsurat banayein toh beshak  usay jindgi bhar dil se lagayein…

लफ्ज # (32,33,34)

1. मजबूत होने में मज़ा तब ही है,जब सारी दुनिया कमज़ोर कर देने पर तुली हो । Majbut honay ka maza tab hi hn jab sari dunia kamjoor karney per tuli ho. 2.निराशावादी की जगह हमेशा आशावादी बने रहिये क्योकि आशावादी व्यक्ति को हर मुश्किल मे भी अनेक अवसर दिखाई देते है । Nirasavadi ki…

लफ्ज – (29,30, 31)

1. किसी से क्या रिश्ता है ,जानने से ज्यादा  उस रिश्ते मे अपनापन का अहसास होना ज्यादा जरूरी है  2. धन की कीमत जानना चाहते हो तो  किसी से उधार लेकर देखो  3. समय बड़ा बलवान है जब वह साथ देता है  तब अच्छे अच्छे को मात दे देता है  आपकी आभारी विमला विल्सन  जय…