Quote#

ज्ञान तीन प्रकार से मिलता है किताबों से – यह सबसे सरल है अनुभव से – यह सबसे कडवा है अंतर्मन से – यह सबसे श्रेष्ठ है आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

#Quote #

सुखी जीवन के छः मंत्र अगर पूजा कर रहे हैं तो – विश्वास करना सीखो बोलने से पहले – सुनना सीखो अगर ख़र्च करना है तो – कमाना सीखो अगर लिखना है तो – सोचना सीखो हार मानने से पहले – फिर से कोशिश करना सीखो मरने से पहले – खुलकर जीना सीखो आपकी आभारी…

Quote #

एक गलत आदत आदमी को अंधा कर देती है एक बुराई व्यक्ति के तेज को मंदा कर देती है कितना बडा सत्य है इस बात मे दोस्तो एक मछली सारे तालाब को मंदा कर देती है आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

अच्छे संदेश सबको दो,लेकिन ज्ञान की बात उन्हे सुनाओ जो सुनने का आनंद लेते है क्योकि अमूल्य हीरा पहचानना हर किसी के बस मे नही होता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 118,119,120

आईना आईना का क्या काम है ? आईना हमे क्या दिखाता है ? ऑंखो से हम सब चीज देख सकते है पर बिना आईना के हम अपनी ऑंखें भी नही देख सकते । ज्ञान भी एक आईना है , ऐसा आईना जो हमे अपने भीतर तक ले जाता है , बाहर की और नही ।…

अन्तराय कर्म – जिंदगी की किताब (पन्ना # 330)

अंतराय ( विघ्न या रुकावट ) कर्म ….. यदि आप कर्म के सिद्धांत व पूर्व जन्म के कर्मों का भुगतान मे विश्वास करते है तो आपको समझ आ जायेगा कि अंतराय कर्म क्या है । रोज़मर्रा की जिन्दगी मे हमे कभी आभास नही हो पाता है कि हम कोई अंतराय कर्म का भी बंध कर…

ईश्वर से याचना क्यों,क्या भरोसा नही ?# जिंदगी की किताब (पन्ना # 328)

ईश्वर से याचना क्यों , क्या भरोसा नही ? कहने को तो हम ईश्वर को याद करने के लिये मंदिर मे जाते है ,जप , तप , पूजा पाठ आदि क्रियाये करते है जो कही से गलत भी नही है लेकिन उस समय हमारा ध्यान रहता है कि हे प्रभु मुझे अच्छे अंकों से परीक्षा…

Quote # 98

Guru kripa ka arth Yeh nahi hai ki Zindagi mein Kabhi dukh hi na aaye Balki yeh hai ki Dukh aane par bhi Dukhi huye bina Vah samay kaise beet jaaye ,Malum hi na chale . गुरु कृपा का अर्थ यह नही है कि जिन्दगी मे कभी दुख ही ना आये बल्कि यह है कि…

ध्यान के फायदे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 316)

मन की शांति सबसे बड़ी दौलत है । ध्यान से हमारी आध्यात्मिक उन्नति तो होती ही है ,साथ मे यह हर दिशा मे प्रगति करने मे सहायता करता है व साथ मे शांति व सुकून भी देता है ।ख़ुद का मन शांत होने से घर मे ,समाज मे भी शांति व आनन्दमय का वातावरण स्थापित…

लफ्ज # 58,59 60

1. मन्दिर मस्जिद तीर्थ जाये या गुरूद्वारा चर्च पत्थर से करता प्यार मगर इंसान रहा ठुकराय !! 2. तीर्थ मंदिर ,ग्रंथों मे ढूँढे पत्थर पर शीश झुकाय ख़ुद मे खुदा बसा पहचान न ख़ुद को पाय !! 3. कोटि धर्म व तीर्थ करो चाहे कर लो जतन हजार आत्म स्वरूप जाने बिना, सब धर्म कर्म…

Quote # 68

Hey parmatma anadikal se humne sampatiwan, shaktiman, kirtiman, dhawan banney ki prarthna ki hai, parantu gungaan, sheelwan, dayawan, shamawan, bhaktiman, banney ki prarthna nahi ki, hey prabhu! Aap humari is parampara ko badal dene ki samarthaya dena. हे परमात्मा अनादिकाल से हमने संपतिवान , शक्तिमान, कीर्तिमान , धनवान , बनने की प्रार्थना की परंतु गुणगान…