सुविचार #

आपकी आभारीविमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

Quote #

जुड़ना सरल है पर जुड़े रहना कठिन वक्त रूबरू करवाता है कभी खुद से कभी सब से आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote#

गलती करना बुरा नही है गलती से सीख नही लेना बुरा है अभिमान तब आता है, जब हमें लगता है कि हमने कुछ किया है और सम्मान तब मिलता है जब दुनिया को लगता है कि आपने कुछ किया है आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

इतने सस्ते भी नही बने कि लोग हमें नचाते रहे इतने महंगे भी ना बनें कि लोग हमे बुलाने से हिचकिचाए इतने नरम भी ना बने कि लोग हमें खा जाए इतने गरम भी ना बने कि दुनिया हमें छू भी न पाये इतना सरल भी ना बने कि लोग हमें मूर्ख बनाए और इतने…

Quote #

बिना स्वार्थ के तो ईश्वर से भी रिश्ता नही रखता इंसान … ग्यारह रूपये के प्रसाद मे पूरी कायनात की लालसा रखता है … और वो भी चढ़ायेगा काम पूरा होने के बाद आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

आपके पास और कोई फ़ैक्ट्री हो या न हो पर ये तीन फैक्ट्रियॉ ज़रूर खोलिये दिमाग़ में आइस फै़क्ट्री दिल में लव फैक्ट्री और ज़ुबान में शुगर फ़ैक्ट्री आपकी जीवन की संपत्ति ख़ुद ब ख़ुद बढ़ती जाएगी आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

सिर्फ सुकून ढूँढिये .. जरूरते तो कभी खत्म नही होगी आपका ” I can ” आपके ” I Q ” से अधिक महत्वपूर्ण है । आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

शिक्षा,संगत,संस्कार और माता पिता का सम्मान बहुत जरूरी है दुनिया में व्यक्तिगत पहचान आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

बनावट , दिखावट और सजावट इन्हीं के कारण है जिन्दगी की सारी फसावट और गिरावट आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

माटी का संसार है, खेल सके तो खेल बाजी रब के हाथ है, कर ले सबसे मेल ये तन माटी का, एक दिन माटी में मिल जाना है ये अनमोल समय ,लौटकर नही आना है कर ले बंदे ऐसा काम, याद रखे लोग तेरा नाम आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

सब फ़सलो को पानी एक समान मिलता है फिर भी नीम कड़वा बेर मीठा और नीबू खट्टा होता है इसमे दोष पानी का नहीं बीज का है इसी तरह प्रभु के लिये सभी समान है पर दोष हमारे कर्मों का है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

एक समय था जब मंत्र काम करते थे उसके बाद एक समय आया जिसमें तंत्र काम करते थे और आज के समय में कितने दुःख की बात है, सिर्फ षड्यंत्र काम करते है जब तक सत्य घर से बाहर निकलता है तब तक झूठ आधी दुनिया घूम लेता है आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय…