सुख दुख का माप # जिंदगी की किताब (पन्ना # 368)

एक व्यक्ति ने किसी संत पुरूष से सवाल किया कि गुरूजी हम सुखी है या दुखी है इसका आकंलन करने के लिये क्या करना चाहिये ? गुरूजी बोले कि इसका आंकलन करने का एक बहुत ही सीधा तरीका है । यदि सोने के बाद पॉच मिनट मे नींद आ जाये तो समझना वह इंसान सुखी…