रूचि(hobby)# जिंदगी की किताब (पन्ना # 378)

रूचि को लेकर परिवार मे तु तु मै मै …… 🌸दो व्यक्तियों की रुचि अलग-अलग हो सकती है। एक कुछ सोचता है, दूसरा कुछ सोचता है और दोनों जब अपनी-अपनी रुचि के अनुरूप एक दूसरे को चलाने पर आमादा हो जाते हैं तो झगड़ा हो जाता है। 🌸जैसी आपकी रुचि है वैसा आपको वातावरण मिले,…

सुख दुख का माप # जिंदगी की किताब (पन्ना # 368)

एक व्यक्ति ने किसी संत पुरूष से सवाल किया कि गुरूजी हम सुखी है या दुखी है इसका आकंलन करने के लिये क्या करना चाहिये ? गुरूजी बोले कि इसका आंकलन करने का एक बहुत ही सीधा तरीका है । यदि सोने के बाद पॉच मिनट मे नींद आ जाये तो समझना वह इंसान सुखी…