Quote #

कभी भी इस बात की गिनती ना करना कि कितने शास्त्र पढ़े , कितने तीर्थ गये , कितने मंदिर गये बल्कि ये सोचना कि तीर्थों की यात्रा मे कितने गहरे उतरे , अपने भीतर बैठे परमात्मा को कितना पहचाना । जीवन मे कितनी प्रसन्नता आई । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

Quote # 396

श्रद्धा ज्ञान देती है ,नम्रता मान देती है और योग्यता स्थान देती है कितनी सच्चाई है यारों अगर तीनों मिल जाये तो व्यक्ति को हर जगह सम्मान देती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 395

परेशानी में कोई सलाह मांगे तो सलाह के साथ अपना साथ भी देना क्योंकि सलाह गलत हो सकती है पर साथ नहीं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 393

जीवन में आगे बढ़ने के लिये कभी कभी बहरा भी बनना पड़ता है क्योंकि मनोबल गिराने वालो की कोई कमी नही होती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 387

जरुरत से ज्यादा मिले उसको कहते है नसीब सब कुछ होने पर भी जो रोता है उसको कहते है बदनसीब और जो थोडा कम पाकर भी हमेशा खुश रहे ,उसको कहते है खुशनसीब आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

रूचि(hobby)# जिंदगी की किताब (पन्ना # 378)

रूचि को लेकर परिवार मे तु तु मै मै …… 🌸दो व्यक्तियों की रुचि अलग-अलग हो सकती है। एक कुछ सोचता है, दूसरा कुछ सोचता है और दोनों जब अपनी-अपनी रुचि के अनुरूप एक दूसरे को चलाने पर आमादा हो जाते हैं तो झगड़ा हो जाता है। 🌸जैसी आपकी रुचि है वैसा आपको वातावरण मिले,…

Quote # 378

माँ बाप भले ही अनपढ़ क्यो ना हो लेकिन अपने बच्चों को शिक्षा और संस्कार देने की जो काबिलियत उनमे है वो दुनिया के किसी स्कुल मे नहीं आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 275

दर्पण कभी झूठ नही बोलता प्रेम कभी ईर्ष्या नही करने देता आध्यात्मिक ज्ञान आकुल नही होने देता सत्य कभी कमजोर नही होने देता विश्वास दुखी नही होने देता कर्म कभी असफल नही होने देता आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

रिश्ते # जिंदगी की किताब (पन्ना # 375)

🌸रिश्ते टूटने का एक कारण दिखावा व competition भी है जिससे रिश्तो की स्वाभाविकता खत्म हो जाती है 🌸रिश्ते टूटने का सबसे बडा कारण आपसी अनबन, झूठा अहंकार है जिसकी क्रोधाग्नि मे आपसी रिश्ते भस्मीभूत हो जाते है 🌸रिश्तो से ज्यादा उम्मीदें व नासमझी व बातचीत बंद कर देने से दूरियाँ इतनी बढ़ जाती है…

Quote # 264

विचार अच्छे है तो मन ही मंदिर है आचार अच्छा है तो तन ही मंदिर है व्यवहार अच्छा है तो धन ही मंदिर है तीनों ही अच्छे है तो अपना जीवन मंदिर से कम नही आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #263

बहुत अच्छा करने पर भी यदि अपयश मिलता है तो दुखी या नर्वस ना हो । आपकी अच्छाई का परिणाम भविष्य मे कभी ना कभी जरूर मिलेगा यकीन मानिये ! पूर्व जन्म के यश नाम कर्म के हिसाब से इस जन्म मे यश या अपयश मिलता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture…

Quote #259

अच्छे रिश्तो की सुंदर परिभाषा जीओ और जीने दो आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google