Quote #

गरीबी अमीरी तो सब अपने अपने कर्मों का फल है जनाब !! दिखने में वो बहुत गरीब थी भले ही दरिद्र दिखते उसके वस्त्र एवं तन पर हँसी और मन किसी राजकुमारी से कम नहीं थी आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 Advertisements

Quote #

छोटी-छोटी खुशियों के क्षण निकल जाते हैं रोज़ जहाँ, फिर सुख की नित्य प्रतीक्षा का रह जाता कोई अर्थ नहीं कभी न थमता वक्त का पहिया, आज है रोना तो कल है हँसना, हर सुबह है अपने में बहुत खास, क्योंकि अंधेरे के बाद ही है सूर्य का प्रकाश, भव्य करो इस सुबह का आरंभ…

Quote #

इंसान की सोच व नसीहत समय व हालात पर बदलती रहती है चाय मे मक्खी गिर जाये तो चाय फैंक देते है अगर घी मे मक्खी गिर जाये तो मक्खी फैंक देते है हम फ़ोन उठाते वक्त इंग्लिश मे hello बोलते है , अगर इसे बदलना चाहे तो कौन सा शब्द होगा जो हम सभी…

Quote #

ईश्वर न दंड देते है,न माफ करते है कर्मफल का तराजू इन्साफ करता है सुख दुःख का बटन हमारे हाथ में है जो हम खुद ही On करते है और खुद ही Off करते है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

गुण दिखे तो मन को कैमरा और अवगुण दिखे तो मन को आईना बना लीजिये आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote #

जब देह ही सगी नही ,अंतिम समय मे दगा दे जाती है तो औरों से कैसा गिला शिकवा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

पुण्य किसी को दगा देता नही पाप किसी का सगा होता नही आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

इज्जत और तारीफ मॉगी नही जाती , कमाई जाती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

आप वही बने रहे जो आप है आप वही करे और कहे जैसा आप महसूस करते है क्योकि जिन्हे बुरा लगता है उनकी अहमियत नही और जिनकी अहमियत है वे बुरा मानेंगे नही आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

करना है तो बड़ों व अतिथियों का सत्कार करो सत्पुरुषों की प्रशंसा व संगति करो माता पिता की आज्ञा मानो गुणों से प्रीत और गुणी जनों का सम्मान करो आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

विचार उस बहते पानी की तरह है यदि इसमें गंदगी मिलाएंगे तो वो गंदा नाला बन जायेगा और सुगंध मिलाएंगे तो वह पवित्र जल बन जायेगा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote #

मान सम्मान की लड़ाई मे आत्मसम्मान बनाये रखना ,चाहे अकेले भी पड़ जाओ पर किसी के सामने स्वयं को कभी भी टूटने ना देना क्योकि खुद का सम्मान करोगे तभी दूसरो से मान पाओगे आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏