पते की बात # प्रेरणादायी # जागृति # परिवार और रिश्ते # Quotes #


चिंता ने चिता से मुस्कुराते हुये कहा
तु मुर्दों को जलाती है
मै जिंदे को जलाती हूँ

तु एकबार ही जलती है
मै हर रोज जलती हूँ

तु सबको अलविदा कर देती है
मै जकड़ लेती हूँ

तु मृत्यु का विष है
मै जिंदगी का विष हूँ

तु अंतिम सत्य है
मै प्रथम सत्य हूँ
इस बात में बहुत हकीकत है दोस्तो !!
जरूरत पड़ने पर लोग बिना रिश्ते के रिश्ते बना लेते है और जरूरत खत्म होने पर बने हुए रिश्ते से मुँह मोड़ लेते है

आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता
जय सच्चिदानन्द 🙏🙏