सच्ची कड़वी बात # परिवार और रिश्ते # जागृति # Quotes #

हम उस ज़माने में जिन्दगी जी रहे हैं
जिसमें झूठ बोलने से नहीं बल्कि
सच बोलने से रिश्ते टूटते हैं
दो तरह के लोग जीने का मजा किरकिरा करते है
एक तो कान भरने वाला
दूसरा कच्चे कान वाला

आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता
जय सच्चिदानंद 🙏🙏