आज का सुविचार # जागृति # Quotes #

हमारे जीवन के दो प्रबल शत्रु

क्रोध और चिंता

क्रोध से विवेक का नाश होता है तो चिन्ता से मनोबल का

क्रोध से शांति का नाश होता है तो चिंता से सौंदर्य का


भाग्य और झूठ से जितनी उम्मीद रखेंगे

उतनी ही ज़्यादा निराशा मिलेगी व

कर्म और सच पर जितना ज़ोर देंगे

उतना ही उम्मीद से ज्यादा मिलेगा


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानन्द 🙏🙏