परिवार व रिश्ते # जागृति# अच्छे विचार # quotes#

दुनिया में दो पौधे ऐसे हैं

जो कभी मुरझाते नहीं और

अगर जो मुरझा गए तो उसका

कोई इलाज नहीं

पहला – नि:स्वार्थ प्रेम

और दूसरा – अटूट विश्वास


बिना कहे जो सब कुछ कह जाते हैं

बिना कसूर के जो सब कुछ सह जाते हैं

दूर रह कर भी अपना फर्ज निभाते हैं

वही रिश्ते सच में अपने कहलाते हैं ।


जीवन में दो बातों पर हमेशा ध्यान दीजिए

जब अकेले में बैठे हो तो अपने विचारों पर ध्यान देने से मन मे गिरावट नही आयेगी

और जब लोगों के बीच बैठे हो तो अपनी वाणी पर ध्यान देने से रिश्तो में गिरावट नहीं आएगी


भाग्य और झूठ से जितनी उम्मीद रखेंगे

उतनी ही ज्यादा निराशा मिलेगी व

कर्म और सच पर जितना ज़ोर देंगे

उतना ही उम्मीद से ज्यादा मिलेगा


आत्मविश्वास और अपने आप पर किये जाने वाले घमंड में एक बहुत ही पतली रेखा का अंतर है

आत्मविश्वास हमें हर समस्या से बाहर निकालता है, और घमंड हमें समस्याओं मे फँसाता है


मन मे बैर रखकर ऊपर से मीठा बोलने की बजाय मन मे सदभावना रखकर कडवा बोलना बेहतर है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏