अनमोल बाते # जिन्दगी # प्रोत्साहन # Quotes #

मिल सके आसानी से

उसकी ख्वाहिश किसे है?

ज़िद तो उसकी है

जो मुकद्दर में लिखा ही नहीं


रूक गई आरती और रूक गई अजान

अगर कोई नही रूका तो वो है

डॉक्टर और जवान


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏