सुविचार # जागृति # अनमोल विचार # Quotes #

बोलने से पहले शब्द मनुष्य के वश में होते है

परन्तु बोलने के बाद मनुष्य शब्दों के वश में हो जाता है

इसीलिये जब भी बोलें सोच समझकर ही बोलें


विचारों को वश में रखिये

वो आपके शब्द बनेंगे

शब्दों को वश में रखिये

वो आपके कर्म बनेंगे

कर्मों को वश में रखिये

वो आपके आदत बनेंगे

आदतों को वश में रखिये

वो आपका चरित्र बनेगा


सभी ब्राह्मण परसुराम नहीं बन सकते

सभी दलित अंबेडकर नहीं बन सकते

सभी राजपूत महाराणा प्रताप नहीं बन सकते

सभी मुसलमान कलाम नहीं बन सकते

और जिन लोगों ने जात-पात जैसा भेदभाव

अपने दिमाग में पाल रखा है

वह कभी इंसान नहीं बन सकते


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानन्द 🙏🙏