कडवी सच # परिवार व रिश्ते # Quotes #

अनावश्यक बोलने वाला इंसान अक्सर

आवश्यक बात ही भूल जाता है


ये जिन्दगी का कडवी सच्चाई है कि

हर इंसान एक-दूसरे को अपनी बात समझाना चाहता है

लेकिन समझना कोई नहीं चाहता


जो सही होकर भी सॉरी कहे

इसका मतलब यह नहीं कि वह ग़लत है

बल्कि इसका मतलब

वह रिश्तों को निभाना बख़ूबी जानता है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏