अनमोल बाते # परिवार व रिश्ते # Quotes #

रेगिस्तान भी हरे हो जाते हैं जब

अपनों के साथ अपने खड़े हो जाते हैं


रिश्तो में वैसा ही सम्बन्ध होना चाहिए जैसे हाथ व ऑख का होता है

हाथ पर चोट लगती है तो आँखों से आँसू निकलते हैं और आँसू आने पर हाथ ही उसको साफ़ करता है


किसी को हद से ज्यादा भाव ना दीजिये

कही ऐसा ना हो कि वह आपको रद्दी के भाव समझने लगे


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Image credit google