अच्छे विचार # जागृति #Quote#

बरसों से बचा बचाकर समय के पल इकट्ठा किए थे उन्हे मन में जोड़कर कई दिन भी बना लिए थे

और सोचा था समय आएगा तब दिल खोलकर इन पलों को खर्च करेंगे ,घूमेंगे, जियेंगे,जो जी चाहेगा ,करेंगे

आज मन पक्का करके तोड़ी उन पलों की गुल्लक,तो पता चला कि बीता समय वर्तमान में नहीं चलता


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏