रिश्ते # जिन्दगी # जागृति # Quote #

शब्दों का भी तापमान होता है ये सुकून भी देते हैं और जला भी देते हैं


यह ज़िंदगी है जनाब

कुछ खट्टी , कुछ मीठी

यहॉ गलतियाँ भी होगी और गलत भी समझा जाएगा

तारीफे भी होगी और कोसा भी जाएगा


ताक़त और पैसा ज़िंदगी के फल है

परिवार और मित्र ज़िंदगी की जड़ है

हम फल के बिना अपने आप को चला सकते हैं पर जड़ के बिना खड़े नहीं हो सकते


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏