वक्त # इंसान # जागृति # Quote #

वक़्त और अपने जब दोनों एक साथ चोट पहुँचाये तो

इन्सान बाहर से नहीं अंदर से भी पत्थर बन जाता है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements