इंसान # जागृति # Quote #

इंसान को समझना है तो उसे बोलने दो

क्योकि हर इंसान अपनी ज़ुबां के पीछे छिपा है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏