अच्छे विचार # जागृति # Quote #

यदि आपके चन्द मीठे बोलों से किसी का रक्त बढ़ता है तो यह भी रक्तदान है

यदि आपके द्वारा किसी की पीठ थपथपाने से उसकी थकावट दूर होती है तो यह भी श्रमदान है यदि आप कुछ भी खाते समय उतना ही प्लेट में ले कि कुछ भी व्यर्थ ना जाए तो यह अन्नदान है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏