कविता # बडी खुशी #

 छोटी खुशियॉ की आये दिन दरवाज़े पर दस्तक होती कल रात दरवाज़े पर बड़ी खुशियॉ की दस्तक पड़ी  सामने खडी थी जिन्दगी की खुशियॉ बड़ी  मैने बडी खुशियॉ से कहा कि  छोटी छोटी खुशियॉ से बन गई मेरी खुशियॉ बडी  तू वहॉ जा जहॉ जिनको तेरी मुझसे से भी ज्यादा जरूरत है । गरीब ,लाचार ,…

परिवार व रिश्ते # वक्त # जागृति # Quote #

जब हम अपने रिश्तो के लिये वक्त नही निकाल पाते है तो वक्त हमारे बीच से रिश्ता निकाल देता है आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

आपका दिन मंगलमय हो # सुप्रभात # Quote#

रिश्ते बरकरार रखने की सिर्फ एक ही शर्त है किसी की कमियां नही अच्छाइयां देखे आपका दिन मंगलमय हो सुप्रभात 🌹🌹 आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏