सुविचार # जिन्दगी # जागृति # Quotes #

जिन्दगी किसी की जिद नहीं बन सकती

जिन्दगी किसी की हद भी नहीं बन सकती

ख्वाहिशो का दरिया है जिन्दगी

पर इसका किनारा कहां है ?


चुप रहूँ तो शब्दों का दम घुटता है

और सच कहूँ तो लोग खफा हो जाते है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏