परिवार व रिश्ते # वक्त # Quote #

वक्त की नजाकत है दोस्तो

धीरे धीरे सब कुछ बदल जाता है

लोग भी रिश्ते भी और

कभी कभी हम ख़ुद भी।


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements