नारी # सकारात्मक बात # Quote #

नारी और नदी एक सी होती है

बहती है पुरे ह्रदय प्राण से

समेटती है सबको अपने आँचल में

जो भी निकट आता

सबको जोड़ कर रखती

सींचती अपने जल से

बढ़ती जाती अपनी मन्ज़िल को

लहराती हुई मुस्कराती हुई


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Image credit google

Advertisements