जिन्दगी # जागृति # Quote #

मकान जले तो बीमा ले सकते हैं

सपने जले तो क्या किया जाये

बादल बरसे तो छाता ले सकते हैं

आँखे बरसे तो क्या किया जाए

काँटा चुभे तो निकाल सकते हैं

बात चुभे तो क्या किया जाए

दर्द हो तो दवा ले सकते हैं

वेदना हो तो क्या किया जाये.


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏