जिन्दगी # रिश्ते # जागृति # Quotes

कभी नज़रें मिलने में लम्हे बीत जाते हैं कभी नजरे चुराने में ज़माने बीत जाते हैं किसी ने ऑख भी खोली तो सोने की नगरी में किसी को घर बनाने में ज़माने बीत जाते हैं कभी काली गहरी रात में हमे एक पल की लगती है कभी एक पल बिताने में ज़माने बीत जाते है…

रिश्ते # जागृति # Quote

पीठ पीछे कौन क्या बोलता है कुछ फर्क नही पडता सामने किसी का मुँह नही खुलता बस यही काफी आपकी आभारी विमल विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

आपका दिन मंगलमय हो # सुप्रभात # Quote

संबंध उसी आत्मा से जुड़ता है जिनका हमसे पिछले जन्मों का कोई रिश्ता होता है वरना दुनिया के इस भीड़ में कौन किसको जानता है आपका दिन मंगलमय हो सुप्रभात 🌹🌹 आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏