जिन्दगी # जागृति # Quote

किसी से इतनी घृणा ना करना कि कभी मिलना पड़े तो नज़रें ना मिला सके और

किसी से इतना प्रेम भी ना करना कि कभी अकेले में जीना पड़े तो जी ना सके ।


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏