जागृति # मन #Quote #

जो बाहर की सुनता है

बिखर जाता है

जो भीतर की सुनता है

निखर जाता है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements