सच्ची बात # Quote #

कड़वी पर सच्ची बात

रिश्ते का आधार प्रेम व आत्मीयता से जुड़ा है

जो भावनाओं के आधार पर पनपते है व पलते है

पर अफसोस आज उसका स्थान जरूरत व उपभोगिता ने ले लिया है ।

संवेदना क्षीण होती जा रही है

व्यक्ति का संबंध व्यक्तिनिष्ठ नही होकर वस्तुनिष्ठ हो रह है

आज के रिश्ते यूज और थ्रो जैसे हो रहे है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements