Quote #

रिश्तो को गलतियॉ इतना कमजोर नही करती ..

जितना ग़लतफ़हमियॉ कर देती है …


इंसान की पहचान शक्ल नही बल्कि अक्ल है


शीशे की तरह आर – पार हूँ

फिर भी बहुतों की समझ से बाहर हूँ


इंसान जो चाहता वो पाता नही

जो पाता है उसे भाता नही

इसलिये उसके जीवन मे सुख साता नही ।


अगर वक्त बदल सकता है तो इंसान क्या चीज है


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements