कड़वी बात # Quote #

कडवा सच

भोजन न पचने पर रोग बढते है

पैसा न पचने पर दिखावा बढता है

बात न पचने पर चुगली बढती है

प्रशंसा न पचने पर अंहकार बढता है

निंदा न पचने पर दुश्मनी बढती है

दुःख न पचने पर निराशा बढती है

और सुख न पचने पर पाप बढता है

इसलिये जीवन से जो कुछ भी मिलें उसे पचाना सीखो


आपकी आभारी विमला विल्सन

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements