Quote #

जिस घर में सदा तानो और उलाहनों का ढोल बजता रहता है

वहॉ प्रेम ,सम्मान और खुशियों का वातावरण कभी भी स्थापित नहीं हो सकता ।


मन की बात कह देने से फैसले हो जाते है

और मन मे रख लेने से फासले हो जाते है


सही ओर ग़लत की पहचान न हो ,

सत्य ओर असत्य का ज्ञान न हो ,

अपनो में अपनो की पहचान न हो ,

उसे जीवन की क्या पहचान होगी


आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements