Quote #

भर्तृहरि ने मनुष्य के चार स्तर बताये

राक्षस तुल्य – जो अपने हितो की पूर्ति के लिये दूसरो के हितो को ले ले व दूसरो के अहित को ही देखे

जानवर तुल्य – जो अपने हितो की पूर्ति के लिये दूसरो का अहित करे

मनुष्य तुल्य – जो अपने हितो की पुर्ति के साथ दूसरो के हितो का भी ख़्याल रखे

देव तुल्य – जो दूसरो के हितो के लिये अपने हितो का त्याग करे


आपकी आभारी विमला विल्सन

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements