Quote #

छोटी-छोटी खुशियों के क्षण निकल जाते हैं रोज़ जहाँ, फिर सुख की नित्य प्रतीक्षा का रह जाता कोई अर्थ नहीं कभी न थमता वक्त का पहिया, आज है रोना तो कल है हँसना, हर सुबह है अपने में बहुत खास, क्योंकि अंधेरे के बाद ही है सूर्य का प्रकाश, भव्य करो इस सुबह का आरंभ…