Quote # 402

जिन्दगी भर का बंधन है साजन ,इसको निभाऊंगी मै

महक उठे तेरी दुनियाँ का हर एक कोना

हर साँस के साथ इसको सजाऊंगी मै

ले ले इम्तिहान ज़िन्दगी कितने भी

निष्ठा अपनी कभी डगमगा ना पाऊँगी मै

आएगी यदि कोई विपदा तुम पर

बनकर ढाल सामने खड़ी हो जाऊंगी मै

सदा इस रिश्ते की पवित्रता बनाये रखूँगी मै


बिन दिल के जज्बात अधूरे

बिन धड़कन अहसास अधूरे

बिन साँसों के ख्वाब अधूरे

बिन तेरे हम कब हैं पूरे


आपकी आभारी विमला विल्सन

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements