Quote # 382

सेवा करनी है तो घड़ी मत देखो

प्रसाद लेना है तो स्वाद मत देखो

सत्संग सुनना है तो जगह मत देखो

भलाई करनी है तो स्वार्थ मत देखो

समर्पण करना है तो बुद्धि मत देखो

रहमत पानी है तो हर इंसान मे खुदा का रूप देखो

आपकी आभारी विमला विल्सन
जय सच्चिदानंद 🙏🙏
Advertisements