मॉ # जिंदगी की किताब (पन्ना # 379)

कितनी खूबसूरती से एक औरत ने जवाब दिया कि एक स्री की कोई जाति नही होती ,जब वह माँ बनती है क्योकि …

🌸जब वह अपने बच्चे का लालन पालन करती है और अपने बच्चे की गंदगी साफ करती है तो वो शूद्र हो जाती है ।

🌸वही बच्चा बड़ा होता है तो मां बाहरी नेगेटिव ताकतों से उसकी रक्षा करती है, तो वो क्षत्रिय हो जाती है

🌸जब बच्चा और बड़ा होता है, तो मां उसे पढ़ाती है तब वो ब्राह्मण हो जाती है

🌸और उसके बाद जब बच्चा और बड़ा होता है तो मां उसके आय और व्यय में उसका उचित मार्गदर्शन कर अपना वैश्य धर्म निभाती है ।

सभी मॉ को समर्पित


आपकी आभारी विमला विल्सन

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Advertisements