मॉ # जिंदगी की किताब (पन्ना # 379)

कितनी खूबसूरती से एक औरत ने जवाब दिया कि एक स्री की कोई जाति नही होती ,जब वह माँ बनती है क्योकि … 🌸जब वह अपने बच्चे का लालन पालन करती है और अपने बच्चे की गंदगी साफ करती है तो वो शूद्र हो जाती है । 🌸वही बच्चा बड़ा होता है तो मां बाहरी…

रूचि(hobby)# जिंदगी की किताब (पन्ना # 378)

रूचि को लेकर परिवार मे तु तु मै मै …… 🌸दो व्यक्तियों की रुचि अलग-अलग हो सकती है। एक कुछ सोचता है, दूसरा कुछ सोचता है और दोनों जब अपनी-अपनी रुचि के अनुरूप एक दूसरे को चलाने पर आमादा हो जाते हैं तो झगड़ा हो जाता है। 🌸जैसी आपकी रुचि है वैसा आपको वातावरण मिले,…

Quote # 380

औरत हूँ मैं सब सम्भाल लेती हूँ चाहे आँगन की रंगोली हो या दफ्तर की फाइल हो परिवार का टेंशन हो या दुनियादारी का मेंशन हो साड़ी का पल्लू बाँध कर भी औरत हूँ मै सब संभाल लेती हूँ Pls like and share my fb page https://m.facebook.com/rangiloodesh/ Thanks आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏